Breaking-News

मेयर चौधरीक कार्यक्रममे सहभागी नहि हएबाक पत्रकारक निर्णय

Please follow and like us:

इटहरी जेठ २३ गते ।नेपाल पत्रकार महासंघ सुनसरी पत्रकार असुरक्षित रहल निष्कर्ष निकाललक अछि । इटहरीक मेयर द्वारिकालाल चौधरी पत्रकारकेँ देने धम्कीसँ पत्रकार असुरक्षित रहल महासंघ निष्कर्ष निकाललक अछि ।
बुधदिन सम्पत्र महासंघ सुनसरी शाखाक बैठक पत्रकार असुरक्षित रहलाक कारण मेयर सहभागी कोनो कार्यक्रममे पत्रकारकेँ सहभागी नहि हएबाक निर्णय कएलक अछि । संगहि उपमहानगरपालिका कएने कार्यक्रममे सेहो पत्रकारके सहभागी नहि हएबाक निर्णय महासंघ कएने अछि ।
महासंघ प्रदेश समितिक अध्यक्ष विक्रम लुइटेल आ महासचिव विवेक गौतमक उपस्थितिमे सम्पत्र बैठकमे मेयर चौधरी सार्वजनिक रुपेँ माफी नहि माँगएधरि कोनो कार्यक्रममे सहभागी नहि हएबाक निर्णय भेल महासंघक शाखा अध्यक्ष अमर खड्का बतओलन्हि ।
‘नाकके हड्डी तोडि देब, एक करोड रुपैया सुपारी देने छी,’ मेयर चौधरी सार्वजनिक रुपेँ कहने छथि । मेयर चौधरीक कारण नेपाल समय डटकमक प्रदेश १ संयोजक पत्रकार विराट अनुपम विस्थापित हएबाक अवस्थामे पहुँचल कहैत जिल्ला प्रशासन कार्यालय सुनसरीसँ सुरक्षा सेहो माँग कएलक अछि । बुधदिन दुपहर जिल्ला प्रशासन कार्यालय पहुँचल महासंघक टोली पत्रकार विराटक सुरक्षाक माँग कएने अछि ।
एहिबीच नेपाल पत्रकार महासंघ केन्द्रीय कार्यसमिति मेयर चौधरी पत्रकार विराटके देने धम्कीसम्बन्धी घटनाप्रति विरोध जनओलक अछि । राज्यक जिम्मेवार निकायक जिम्मेवार व्यक्तिक तर्फसँ पत्रकारकेँ एहि प्रकारेँ खुल्ला रुपेँ धम्की देबाक घटना प्रेस तथा अभिव्यक्ति स्वतन्त्रता उपर सिधा हस्तक्षेप रहबाक संगहि प्रचलित कानुनके सेहो उपहास भेल महासंघ जनओलक अछि ।
महासंघ घटनाके घोर भत्र्सना करैत धम्की देबएबला मेयरकेँ सार्वजनिक रुपेँ माफी मँगा कऽ प्रेस स्वतन्त्रताक सम्मान करबालेल एवं पत्रकारकेँ निर्वाध आ स्वतन्त्ररुपेँ काज करबाक वातावरण बना एहि प्रकारक घटना फेरसँ नहि हुए एहितर्फ ध्यान देबएलेल सम्बन्धीत निकायक ध्यानाकर्षण करओल अछि ।
एम्हर नेकपासँ निर्वाचित इटहरीक मेयर चौधरीकेँ आत्मालोचना करबालेल नेकपाक नेतासभ सुझाव देलन्हि अछि । जनप्रतिनिधि सार्वजनिक रुपेँ पत्रकारकेँ धम्की देलाक बाद नेकपाक आलोचना होबए लगालक बाद नेतासभ चौधरीके अपनाकेँ सुधार करबालेल सुझाव देलन्हि अछि ।
प्रदेश ५ क मुख्यमन्त्री तथा नेकपा नेता शंकर पोखरेल जनताक बहुदलीय जनवादसँ दीक्षित कार्यकर्ता लोकतान्त्रिक मूल्यमान्यता आ विधिके शासनप्रति प्रतिवद्ध रहबालेल आग्रह कएने छथि । ‘द्वारिकाजीक आक्रोश पीतपत्रकारिता आ भ्रष्टाचारविरुद्ध रहलाक बादो अभिव्यक्ति अस्वभाविक आ गलत अछि,’ मुख्यमन्त्री पोखरेल लिखने छथि,‘एहि कारण हुनका जनप्रतिनिधि आ पार्टी कार्यकर्ता दुनु हिसाबसँ अपन अभिव्यक्तिकेँ सुधार करैत आत्मालोचना करब उचित होएत ।’
दोसर नेता योगेश भट्टराई सेहो चौधरीक अभिव्यक्ति हुनकर राजनीतिक उचाँइके शोभा नहि देने टिप्पणी कएने छथि । भट्टराई लिखने छथि,‘अपन अभिव्यक्तिप्रति सार्वजनिक रुपेँ आत्मालोचना कऽ पदीय गरिमा आ पार्टीक प्रतिष्ठाप्रति सचेत रहबालेल मेयर चौधरीसँ विनम्र अनुरोध करैत छी ।’

Have your say